Category Archives: Bashir Badr

Sir Jhukaoge To / Bashir Badr

सर झुकाओगे तो पत्थर देवता हो जाएगा इतना मत चाहो उसे, वो बेवफ़ा हो जाएगा हम भी दरिया हैं, हमें अपना हुनर मालूम है जिस तरफ भी चल पड़ेंगे, रास्ता हो जाएगा कितनी सच्चाई से मुझ से ज़िन्दगी ने कह … Continue reading

Posted in Bashir Badr, Uncategorized | Tagged | Leave a comment